Monday, May 20, 2024
No menu items!
spot_img
Homeविदेशदेश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की पुण्यतिथि मनाई

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की पुण्यतिथि मनाई

रिपोर्टर :- गणेश राजस्थान

आज युवा मोर्चा नगर मंडल द्वारा भाजयुमो मंडल अध्यक्ष दीपेश अग्रवाल की अध्यक्षता में एवम मंडल महामंत्री गणेश आचार्य एवम वरिष्ठ मनीष परसाई के सानिध्य में देश के पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न,प्रखर वक्ता, जनसंघ के संस्थापक अटल बिहारी वाजपेयी जी की 5वी पुण्यतिथि मनाईयुवा मोर्चा अध्यक्ष दिपेश अग्रवाल ने बताया की अटल जी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर(मध्यप्रदेश)में हुआ था व 16 अगस्त 2018 में दिल्ली aims में 93 वर्ष की उम्र में इनका देहांत हुआ था,वाजपेयी प्रधानमन्त्री पद पर पहुँचने वाले मध्यप्रदेश के प्रथम व्यक्ति थे,वो 3 बार भारत के प्रधानमंत्री बने,वरिष्ठ मनीष परसाई ने कहा थे। उन्होंने लखनऊ के लिए संसद सदस्य के रूप में कार्य किया,[3] 2009 तक उत्तर प्रदेश जब स्वास्थ्य सम्बन्धी चिन्ताओं के कारण सक्रिय राजनीति से सेवानिवृत्त हुए। अपना जीवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लेकर प्रारम्भ करने वाले वाजपेयी राष्ट्रीय जनतान्त्रिक गठबन्धन (राजग) सरकार के पहले प्रधानमन्त्री थे, जिन्होंने गैर काँग्रेसी प्रधानमन्त्री पद के 5 वर्ष बिना किसी समस्या के पूरे किए। आजीवन Pendrive रहने का संकल्प लेने के कारण इन्हे भीष्मपितामह भी कहा जाता है। उन्होंने 24 दलों के गठबन्धन से सरकार बनाई थी जिसमें 81 मन्त्री थे।गणेश आचार्य ने कहा , भाषणा और कविताएं हमेशा उनके होने का एहसास कराती हैं. जनता के बीच प्रसिद्द अटल बिहारी वाजपेयी अपनी राजनीतिक प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते थे। 13 अक्टूबर 1999 को उन्होंने लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की नई गठबंधन सरकार के प्रमुख के रूप में भारत के प्रधानमंत्री का पद ग्रहण किया। वे 1996 में बहुत कम समय के लिए प्रधानमंत्री बने थे।पंडित जवाहर लाल नेहरू के बाद वह पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो लगातार दो बार प्रधानमंत्री बने।इस दौरान युवा मोर्चा अध्यक्ष दिपेश अग्रवाल, गणेश आचार्य,मनीष परसाई,महामंत्री जिगर आचार्य,धर्मेंद्र शाक्य,तपेश सेन,राजा बनजारा,सूर्यप्रताप सिंह,अल्पसंख्यक अध्यक्ष नासिर खान,तुषार त्रिवेदी,वरिष्ठ गणेश जी,अभय सिंह,हितेंद्र ,संदीप पांडेय,कैलाश पुरोहित,बंसीलाल आदि उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments