News Express24

site logo
Breaking News

जानिए- दुल्हे की उस करतूत के बारे में, जिसके बाद दुल्हन बोली, कुछ भी हो नहीं लूंगी 7 फेरे

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली/अलीगढ़, ताराचंद जवां क्षेत्र के गांव खुर्द खेड़ा में शादी रचाने आए दूल्हे ने जयमाल कार्यक्रम के समय रिवॉल्विंग स्टेज पर शराब पीकर हंगामा कर दिया। दुल्हन पक्ष के लोगों ने विरोध किया तो मारपीट हो गई। दूल्हे का रौद्र रूप देख दुल्हन ने शादी करने से साफ इनकार कर दिया।

सूचना पर पुलिस दूल्हा समेत दोनों पक्षों को थाने ले आई। समझौता न होने पर पुलिस ने दूल्हा समेत दोनों पक्षों के चार लोगों को शांतिभंग के आरोप में जेल भेज दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक, खुर्द खेड़ा निवासी बीरेंद्र सिंह की दो बेटियों की शादी बुधवार की शाम थी। बड़ी बेटी आरती की बरात नेहरू नगर, आनंद पर्वत (दिल्ली) से आई थी, जबकि छोटी बेटी पूजा की बरात गौतम बुद्ध नगर से आई थी।

बताया जा रहा है कि रात में जयमाला के दौरान दिल्ली से आया दूल्हा कन्हैया नशे में था। इस दौरान किसी बात पर नाराज होकर उसने तोड़फोड़ कर डाली। दुल्हन के मामा ने विरोध किया तो उसे पीटा और रिवॉल्विंग स्टेज तक तोड़ डाली। इस पर दुल्हन ने शादी से साफ इनकार कर दिया।

यहां पर बता दें कि तीन दिन पहले ही अलीगढ़ के मानिक चौक की युवती का दिल्ली के एक युवक से फेसबुक पर प्यार ऐसा परवान चढ़ा कि दोनों ने साथ जीने व मरने की कसमें खा लीं। 9 जुलाई (मंगलवार) को दोनों आर्य समाज मंदिर में शादी करने पहुंच गए, जहां विश्व हिंदू परिषद (विहिप) भारतीय जनता युवा मोर्चा, ब्राह्मण समाज समेत कई संगठनों के लोगों ने हंगामा कर युवक की पिटाई कर दी। इसके बाद लड़की की पिटाई कर उसके पिता घर ले गए तो लड़के को दिल्ली भेज दिया। लोगों ने आर्य समाज मंदिर में शादी कराने की प्रक्रिया पर भी सवाल उठाए।
दिल्ली के संजय धवन की युवती से फेसबुक पर दोस्ती की शुरुआत डेढ़ साल पहले हुई थी। दोस्ती प्यार-मुहब्बत में बदल गई। दोनों घंटों बातें करने लगे। इस दौरान दोनों के बीच शादी करने की बात तय हो गई।
मंगलवार को युवक अपने परिजनों को बताए बगैर शादी करने आर्य समाज मंदिर पहुंच गया। युवती ने भी शादी के बारे में अपने घर में किसी को नहीं बताया। अपनी बहन को लेकर वह भी मंदिर पहुंच गई। शादी के लिए दोनों ने आर्य समाज मंदिर में अपने आधार कार्ड की कॉपी देने के साथ आठ हजार रुपये जमा करा दिए।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की जिला संयोजक लक्ष्मी शर्मा, कृष्णा गुप्ता व अन्य संगठन के लोगों को इसकी खबर लगी तो वह भी आर्य समाज मंदिर पहुंच गए। कृष्णा गुप्ता ने युवक व युवती से पूछा कि क्या वह शादी करने अपने परिजनों को बताकर आए हैं? जिसका वह जवाब नहीं दे पाए। इसके बाद युवक से उसकी मां का नंबर लेकर बात की। युवती से उसके पिता का नंबर लेकर सूचना दी। कुछ देर में ही लड़की के पिता आ गए। उन्होंने दोनों बेटियों को गुस्से में आकर चांटे लगाए और घर ले गए। बाद में लड़के को समझाकर दिल्ली भेज दिया। शादी कराने के लिए जमा कराए आठ हजार में से सात हजार रुपये भी वापस करा दिए।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

यह भी पढ़े ..

ट्रेंडिंग न्यूज़ ..

Add New Playlist