News Express24

site logo
Breaking News

छत्तीसगढ़ / झगड़े के बाद पति ने टांगी से काट दी बेटी की गर्दन, पूजा घर में दफना दीसरस्वती द्विवेदी

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

सरस्वती

कपशपुरनगर/पत्थलगांव .पत्नी से झगड़ा करने के बाद गुस्साए पति ने अपनी छह साल की बेटी का गला काटकर उसकी हत्या कर दी और वारदात के बाद बेटी की लाश को घर के पूजा कमरे में ही दफना दिया। सूचना मिलने पर गांव में पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। नायब तहसीलदार की मौजूदगी में लाश को बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। घटना पत्थलगांव थाना क्षेत्र के लुड़ेग नवापारा की है।
जानकारी के मुताबिक नवापारा निवासी संदीप तिग्गा 25 वर्ष का गुरुवार की सुबह उसकी पत्नी पूर्णिमा से झगड़ा हो गया। झगड़ा इतना बढ़ा कि आरोपी संदीप ने पत्नी का गला दबाकर उसे मारने का प्रयास किया। पत्नी किसी तरह से पति के चंगुल से छूटी और अपने दो बच्चों को साथ लेकर घर से कुछ दूरी पर स्थित पड़ोसी के मकान में जाकर छिप गई।
संदीप के तीन बच्चे हैं। पत्नी और दो बच्चों के भाग जाने से घर में सिर्फ छह वर्षीय मासूम बच्ची पलक रह गई थी, जो कि अपने मां-बाप के झगड़े को देखकर घर के एक कोने में दुबके बैठी थी। गुस्साए संदीप ने घर में रखी टांगी से अपनी बेटी की गर्दन काट दी और लाश को अपने घर के पूजा कमरे में दफनाकर उसके ऊपर फिर से मिट्‌टी डाल दी। लाश दफनाने के बाद उसके ऊपर चटाई बिछाकर सबकुछ सामान्य कर दिया
गांव में बलि देने की भी हो रही चर्चा : बच्ची की हत्या गर्दन काटकर करना और लाश को पूजाके कमरे में दफनाने की घटना के बाद इलाके में कई तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं हैं।कुछ लोग इसे बलि से जोड़ रहे हैं। आरोपी भले ही क्रिश्चियन है, पर उसके घर में तुलसी चौरा भी है। हालांकि पुलिस इसे एक सिरे से खारिज कर रही है। पुलिस का कहना है क्षणिक आवेश के कारण यह घटना हुई है।
पहले रिपोर्ट लिखा देते तो नहीं होती घटना :थाना प्रभारी ओम प्रकाश ध्रुव ने विवेचना में पाया है कि पति व पत्नी के बीच अक्सर झगड़ा होता था। इससे पहले भी आरोपी ने कई बार अपनी पत्नी को जान से मारने का प्रयास किया था, पर महिला ने अपने पति के खिलाफ कभी थाने में रिपोर्ट नहीं लिखाई। महिला में जागरूकता की कमी के कारण आज उसकी बेटी को दर्दनाक मौत मिली और पति जेल चला गया है। यदि महिला ने अपने ऊपर हो रही प्रताड़ना को लेकर पहले ही आवाज उठाई तो आज इतनी बड़ी वारदात नहीं हुई होती।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

यह भी पढ़े ..

ट्रेंडिंग न्यूज़ ..

Add New Playlist