Sunday, June 23, 2024
No menu items!
spot_img
Homeउत्तर भारत राज्यचंदीगडगौरा धान खरीदी केंद्र का प्रांगण बदले जाने पर किसानों में जनाक्रोश

गौरा धान खरीदी केंद्र का प्रांगण बदले जाने पर किसानों में जनाक्रोश

रिपोर्टर : चरणजीत बंजारा

पन्ना कलेक्टर के नाम खाद्य अधिकारी को सौंपा ज्ञापन यथावत रखने की मांग।जिले में धान खरीदी केंद्रों में इनदिनों धान की तुलाई चल रही है। ऐसे में गौरा धान खरीदी केंद्र का प्रांगण बराछ के लिए बदले जाने पर क्षेत्रीय किसानों में नाराजगी देखी गई है।किसानों ने पन्ना कलेक्ट्रेट पहुंचकर खाद्य अधिकारी को ज्ञापन देते हुए कहा कि खरीदी केंद्र का प्रांगण बदलने से किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इसलिए खरीदी केंद्र का प्रांगण यथावत किया जाए।नहीं तो किसान उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। गौरा धान ख़रीदी केंद्र में अपनी धान की तुलाई के लिए स्लॉट बुक करने वाले करीब 100 किसान शनिवार के दिन पन्ना कलेक्ट्रेट पहुँचे।जहां उन्होंने खाद्य अधिकारी के नाम ज्ञापन दिया।और बताया कि महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक मर्यादिक पन्ना के आदेशानुसार 20 दिसंबर से प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति द्वारा के प्रांगण गौरा में उपार्जन केंद्र बना कर धान खरीदी केंद्र प्रारंभ की गई थी।किंतु पन्ना तहसीलदार के द्वारा निरीक्षण के दौरान 22 दिसंबर को धान खरीदी केंद्र बंद करने के निर्देश दिए।साथ ही गौरा से बराछ के लिए स्थान परिवर्तित कर दिया।जहां किसानों को धान तुलाई करवाने के लिए निर्देशित किया। जबकि गौरा धान खरीदी केंद्र प्रांगण में धान धुलाई के लिए आने वाले किसानों के लिए पानी,अलाव बाउंड्री एवं पार्किंग जैसी व्यवस्था है। जबकि बराछ में यह व्यवस्थाएं नहीं है। इसके साथ ही करीब 100 किसानों के द्वारा 400 क्विंटल धान वहां पर जमा कर दी गई है। जिसकी तुलाई होना बाकी है। लेकिन स्थान परिवर्तित होने से किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।इधर से उधर अपनी धान को ले जाना पड़ेगा। इसलिए समस्त किसानों ने धान खरीदी केंद्र बराछ से गौरा यथावत करने की मांग की है। वहीं किसानों ने कहा कि अगर मांग पूरी नहीं हुई तो वह उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।वहीं पन्ना तहसीलदार अखिलेश प्रजापति ने बताया कि गौरा धान खरीदी केंद्र के लिए निरीक्षण के निर्देश मिले थे।निरीक्षण कर जांच रिपोर्ट उपार्जन समिति को सुपुर्द कर दी गई है। अब धान खरीदी केंद्र गौरा बनाया जाएगा या बराछ यह निर्णय समिति को लेना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments