News Express24

site logo
Breaking News

एक बस व दो कारें टकरा गई

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

 

बाड़मेर. शहर से 22 किमी. की दूरी पर माडपुरा बरवाला के पास शनिवार रात 9 बजे हाईवे पर गायाें काे बचाने के चक्कर में एक बस व दो कारें टकरा गई


नेमी चन्द लोहार बाड़मेर राजस्थान

टक्कर इतनी भीषण थी कि एक कार तो बस के नीचे आई और धधक उठी। यह आग बस में भी फैली और कार सवार गणेश व एक अन्य युवक जिंदा जल गए।

हाइवे पर गायों को बचाने के चक्कर में निजी बस सामने से आ रही कार से टकरा गई। बस संतुलन खोकर रॉन्ग साइड में चली गई, इसी दौरान एक और ऑल्टो कार सामने से आकर बस के आगे टकरा गई। भिड़ंत इतनी तेज थी कि ऑल्टो का अगला हिस्सा पिचक कर बस के नीचे घुस गया। पेट्रोल की कार होने के कारण इसमें आग लगी और बस तक फैल गई। इससे ऑल्टो सवार दो लोग जिंदा जल गए। बस ने भी आग पकड़ ली।इससे पहले बस से टकराई ब्रिजा कार 50 फीट दूर जाकर रुकी। बस और ब्रिजा कार में सवार लोगों में किसी को भी गंभीर चोट नहीं आई।

घटना के बाद केयर्न और नगर परिषद की फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंच कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। दो घंटे बाद क्रेन की सहायता से बस के नीचे फंसी ऑल्टो कार को निकाला गया। सूचना पर एसपी शरद चौधरी, डीएसपी विजय सिंह, नागाणा थानाधिकारी बलदेवराम व बायतु थाना पुलिस मौके पर पहुंची। दो फायर ब्रिगेड की मदद से आग पर काबू पाने के प्रयास किए, लेकिन करीब पौन घंटे देरी के कारण दोनों वाहन जल कर नष्ट हो गए।

यूं समझें कैसे हुआ इतना भीषण हादसा, कबाड़ बने वाहन
गडरारोड से जयपुर के लिए जाने वाली निजी बस करीब 100 की रफ्तार में थी, तभी चालक को अचानक हाइवे पर गाये खड़ीं दिखाई दीं। चालक बस को संभाल पाता तब तक गायों से बस टकरा गई। इस बीच सामने से आ रही ब्रिजा कार बस के एक हिस्से से टकरा कर दूर जा रुकी। इसी के पीछे एक और तेज रफ्तार से आ रही ऑल्टो कार रॉन्ग साइड में आई बस के आगे से नीचे घुस गई। कार में सवार गणेश उर्फ गणपत पुत्र धनराज सोनी (22) और सोनू पुत्र नेनमल सोनी (20) निवासी जोधपुर हाल बाड़मेर की जिंदा जलने से मौत हो गई।

ब्रिजा के एयरबैग से बची जान, ऑल्टो जली
ब्रिजा कार में सवार दिनेश संकलेचा ने बताया कि गाय आने से बस असंतुलित हो गई। हमारी कार भी बस से टकराई, लेकिन गनीमत रही कि वह टक्कर के बाद दूर जाकर रुकी। इस बीच एयर बैग खुलने से हमारी जान बच गई। हम जब कार से नीचे उतरे तो बस में आग लग चुकी थी। ऑल्टो कार आगे फंस गई, उसमें सवार लोग भी जिंदा जल गए।

बस से नीचे उतर 5-10 कदम ही चले कि आग लग गई: यात्री
हम हादसे को कुछ समझ नहीं पाए। बस 100 की रफ्तार से ज्यादा थी, अचानक हाइवे के बीच गाये आ गईं। चालक ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन बचा नहीं पाया। इस बीच कार टकराने का धमाका हुआ। बस संतुलन खो गई, तभी एक अल्टो कार बस से टकराई। बस में धुआं ही धुआं हो गया। हम हड़बड़ा गए, जान बचाने के लिए बस में सवार सभी लोग दौड़े, भगदड़ मच गई। बस में 40-50 लोग थे। बस से नीचे उतर 5-10 कदम ही चले कि तेज कार में आग लगी, 5 मिनट में पूरी बस को चपेट में ले लिया। कुछ यात्री अपने सामान को भी बस से निकालने का प्रयास करने लगे, लेकिन निकाल नहीं पाए।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

यह भी पढ़े ..

ट्रेंडिंग न्यूज़ ..

Add New Playlist